यह बात सही है कि स्तनपान करवाना एक प्राकृतिक और सुंदर प्रक्रिया है, लेकिन स्तनों से गिरते दूध के कारण नवजात शिशु की माँ  के कपड़े खराब हो जाते हैं। ऐसा आमतौर पर तब होता है जब माँ के स्तन में बच्चे की जरूरत से अधिक दूध बन जाता है। यदि शिशु को वह दूध उसी समय न पिलाया जाये तब वह अतिरिक्त दूध या तो लीक हो जाता है या फिर स्प्रे के रूप में बह जाता है।

इसके कारण आपके अन्तः वस्त्र या जो भी कपड़े पहने होते हैं, विशेषकर तब जब आपने प्लेन और ब्राइट कपड़े पहने हों, उनमें से वह धब्बे जो आपके स्तन के चारों ओर दिखाई देने के कारण और  खराब लगते  हैं।(मुझे यकीन है आप खुद को इस प्रकार दिखाई देना पसंद नहीं करती होंगी)।

स्तन में से दूध उस समय भी लीक हो सकता है जब न तो आप बच्चे को दूध पिला रही हों या फिर बच्चे की स्वयं भी दूध पीने की  भी इच्छा न हो। ऐसी महिलायेँ जिनके स्तन इतने बड़े नहीं होते जो अतिरिक्त दूध को सम्हाल संभाल पाये तब उनके स्तन से दूध लीक कर जाता है। कभी-कभी माएँ शिशु जन्म के बाद तनाव में आ जाती हैं। इसके अलावा कभी-कभी हार्मोनल परिवर्तन भी स्तन के दूध लीक होने का कारण बन जाते हैं। सामान्य रूप से यदि आपके स्तन में दूध अधिक बनता है तब निश्चय ही उसमें से कुछ लीक होगा ही (चिंता न करें , यह बिलकुल सामान्य बात है और आप इसपर नियंत्रण कर सकती हैं )।

जब माँ एक स्तन के बाद दूसरे स्तन से दूध पिलाती हैं तब इस बदलने की प्रक्रिया में भी थोड़ा सा दूध बह जाता है।

यहाँ कुछ तरीके बताए जा रहे हैं जिनसे माएँ अपने कपड़ों पर लगने वाले दूध के धब्बों को लगने से बचा सकती हैं :

अपने बच्चे को जहां तक हो सके स्तनपान करवाएँ। इसके लिए जरूरी है कि माँ अपने शरीर की भाषा को समझे और इस बात का अनुमान लगाए कि कब उनके स्तन दूध से भर गए हैं। वे उन्हें अधिक देर तक भरा न रहने दें। स्तनपान करवाने वाली माँ को एक सामान्य व्यक्ति की तुलना में अधिक भूख लगती है क्योंकि वह जो भी कुछ खाती हैं वह सब दूध में बदल जाता है। बच्चे को दूध पिलाने से पहले हल्का खाना खाना ठीक रहता है।किसी निर्धारित समय के दौरान ही बच्चे को दूध पिलाने के बजाए, अगर बच्चा दूध पीने को तैयार हो तो माताएं अपने पर्याप्त खाली समय में भी बच्चे को दूध पिला सकती हैं |

स्तन से दूध को लीक होने से बचाने का एक अन्य विकल्प यह भी है कि स्तन पर सीधे और थोड़ा-थोड़ा करके दबाव बनाया जाये। इससे दूध का फ़्लो रुक जाएगा। यह आप उस समय कर सकती हैं जब आप बच्चे से दूर हों और उसे दूध नहीं पिला सकती हों। जब आप किसी भीड़ वाली जगह पर हों या ऑफिस में हो तब अपनी छाती पर दोनों हाथ अच्छी तरह से बांध लें इससे कुछ भी गलत होने पर किसी का भी ध्यान आपकी ओर नहीं जाएगा। इसके अतिरिक्त एक अच्छी फिट होने वाली नर्सिंग पैड या अच्छी टाइट शर्ट भी दूध को लीक होने से बचा सकती है।

आजकल बाज़ार में ऐसे डिवाइस भी आ गए हैं जो स्तन से निकलने वाले दूध को इकठ्ठा कर सकते हैं। आप इसके लिए सिरोना प्रोडक्ट का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। इन्हें आप अपनी ब्रा में फिट कर सकती हैं। बहुत से दूध पिलाने वाली माएँ इनका इस्तेमाल कर चुकी हैं और विशेषकर यह उस स्थिति में भी अच्छी रहती है जब आपने नवजात शिशु को अभी-अभी दूध पिलाना शुरू किया है और कभी-कभी जैसे ही एक स्तन से दूध पिलाती हैं, दूसरे स्तन से दूध निकलने लगता है।

स्तनपान की अवधि में आपके निप्पल गीले और नम रहने लगे हैं। इनके इस कारण से यहाँ पर फंगस या यीस्ट जैसा इन्फेक्शन होने का डर हो जाता है। इसलिए बहुत जरूरी है कि इन्हें साफ और सूखा रखा जाये। आपको अपनी ब्रा और नर्सिंग पैड को नियमित रूप से बदलते रहना होगा जिससे आपके स्तन पर कोई जर्म्स या बैक्टीरिया न पनपने पाये।

आप लीकेज को कवर करने के लिए कपड़े का प्रयोग करने का साहस भी कर सकती हैं। अपने नर्सिंग टॉप के साथ एक ढीली कमीज़ पहन कर आप इस परेशानी से बच सकती हैं

Leave a Reply

×

Cart